कज़िन के दोस्त की बहन का प्रेम प्रसंग
 
कज़िन के दोस्त की बहन का प्रेम प्रसंग...
बात उन दिनों की है, जब मैं 11th में था, और अपने रिलेटिव्स के यहाँ गर्मियों की, छुट्टियों में, जाता थ! मैं करीब एक महिना वहाँ रहता था! मैं अपने आप में खुश रहता था, मेरे कजिन्स (एक बहन जो मुझसे २ साल बड़ी और एक भाई, जो मुझसे 4 महीने छोटा है) मुझे आज भी बहुत प्यार करते हैं, और आज भी मेरा वहाँ आना-जाना रहता है।

मेरे कज़िन भाई का एक दोस्त, जो बगल के ही मकान में रहता था, और कई बार मैं अपने कज़िन के साथ, उसके घर भी जा चूका था! उसकी एक बहन भी थी, जिसका नाम रीना था, और वो मेरी कज़िन बहन के साथ पढ़ती थी!

मैं शाम को हमेशा छत पर चला जाता, और गर्मियों में ठन्डे मौसम का आनंद लेता था! मैं छत में, करीब 1/2 घंटे घूमता रहता था! कई बार मैंने बगल के मकान में, उस रीना को भी, छत पर घुमते देखा! वो भी छत में शाम को, जब-तक मैं रहता, घूमा करती थी।

एक दिन मेरी कज़िन बहन ने बड़े ही मजाकिया मूड में मुझसे पुछा कि, आज-कल मैं किस पर लाइन मार रहा हूँ? मैं धीरे से मुस्कराया, और बोला किसी पर नहीं! मेरा चेहरा वो, पढ़ चुकी थी, उसे विश्वास हो गया था, की मेरे साथ ऐसा कुछ नहीं है।

फिर उसने धीरे से कहा कि, उसकी दोस्त रीना को मैं अच्छा लगता हूँ, और उसने आज ही उससे कहा, और वो मेरे बारे में उससे बहुत कुछ पूछ रही थी! मुझे शर्म आ गयी! लेकिन मुझपर जैसे कोई फ़रक ही नहीं पढ़ा!

मुझे नहीं मालूम कि, कब मैं, रीना को अच्छा लगने लगा? मैं शाम को छत पर जाता, और वो भी एक जगह खड़ी होकर मुझे देखती रहती! फिर एक दिन शाम को हल्की-हल्की बारिश हो रही थी, मैं छत पर बारिश का आनंद ले रहा था कि, रीना भी छत पर आ गयी! थोड़ी देर तक वो मुझे देखती रही, और जैसे ही थोडा सा अँधेरा हुआ, उसने मुझे इशारे से बुलाया!

आज छत पर कोई नहीं था, मैंने इधर-उधर देखा, और चुप-चाप उसके पास चला गया! उसने मेरा हाथ पकड़ा, और एक कॊने में, जहां थोडा सा अँधेरा था, और कोई देख नहीं सकता था, ले गयी।

उसने मेरे हाथ को कसके पकड़ा हुआ था, हम दोनों की धड़कने तेज हो रही थी! वो मेरे और करीब आ गयी, और धीरे से बोली, "I LIKE YOU". इससे पहले मैं कुछ कहता, उसने अपने होठ, मेरे होठो पर रख दिये, और कुछ देर तक वो मुझे किस करती रही! अब मैं भी उसे कसके पकड़ चूका था, और हम दोनों एक दुसरे को किस करने लगे! हम दोनों, आगे बढ़ना चाहते थे, लेकिन समय और जगह के कारण कुछ नहीं कर पाये।

कुछ समय बाद उसकी शादी मेरे ही शहर में हो गयी. मेरी कज़िन ने बाद में मुझे बताया, लेकिन मैंने उसका एड्रेस लेने की कोई कोशिश नहीं की, क्यूंकि मैं उसका घर नहीं उजाड़ना चाहता था!


Spicy Chapters...