नौकरानी का दिवाना
 
नौकरानी का दिवाना...
एक हमारे भाई के दोस्त, जिनका नाम उदय है, स्वभाव से बहुत अच्छे, लेकिन वो, ठरक के धनी और ठरकी नंबर एक हैं! वो, ज़नाब 45 साल के है! उनकी एक सुन्दर बीबी और २ बच्चे भी है! हमारे घर पर उनका आना-जाना लगा रहता है, और मुझसे वो, बहुत खुले हुए हैं!

बात करीब 4-5 साल पहले की है! एक दिन वो, हमारे घर में आये! मैंने उनका स्वागत किया, पानी पिलाया, ब्रेकफास्ट करवाया! उस दिन जैसे मैं घर पर अकेला था, तो उनसे बात शुरू हो गयी!

जैसे मैंने पहले भी कहा कि, वो ठरक के बादशाह भी हैं! तो, मुझसे बात करते-करते कहने लगे कि, अगर अभी कोई औरत, लड़की या कोई भो हो तो बता दो! उसे घर लाकर उसका काम करते हैं! मैंने मना कर दिया और कहा कि, मैं किसी को नहीं जानता! फिर उन्हॊने मेरे घर में नौकरानी को देखा, और मुझसे कहा कि, वो उसे पैसे देने को तैयार हैं, अगर वो, मान जाती है. मैंने मना कर दिया और कहा, प्लीज इस घर में ऐसे मत करो, क्यूंकि वो, घर में 15 साल से काम कर रही है! और कुछ भी गड़बड़ हुई तो वो, घर पर बता देगी! तो, हमारे उदय भाई शांत हो गये!

नौकरानी के जाने के बाद, जो उन्होंने मुझे बताया कि, आजकल उनकी बीबी और बच्चे उसकी बीबी के मैके, गए हुए हैं! और उनके घर में जो नौकरानी आती है, उसकी तबियत कुछ टाइम से ठीक नहीं चल रही है! तो आजकल उसकी 15 साल की बेटी घर पर झाड़ू, पोछा करने आती है! वो नौकरानी सुन्दर, जवान सेक्सी है! और उस पर उनका दिल आ गया है!

एक दिन सुबह जब वो नौकरानी, काम करने आयी, उदय भाई साहेब अपने बेड पर, नेकर मे, अंदर कुछ ना पहन कर, ब्लू फिल्म चलाकर देखने लगे! टीवी की आवाज़ उन्होंने कम की हुई थी! और अपने L*** को सहला कर बड़ा कर रहे थे! जब वो नौकरानी उनके कमरे में आयी और, उसने टीवी देख, जो भाई साहेब भी चाहते थे! उस नौकरानी की आँखें खुली की खुली रह गयी! वो भी, टीवी देखे लगी, लेकिन जैसे ही उस नौकरानी ने भाई साहेब की और देखा, शर्मा के बाहर चली गयी! भाई साहेब ने उसे आवाज लगाई, और अंदर बुला कर धीरे से कहा! तुम इसे देख सकती हो! वो बेचारि नौकरानी, वहीं पर बैठ कर, ब्लू फिल्म देखने लगी! शायद वो भी, हॉट हो चुकी होगी कि, भाई साहेब ने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे 100 रुपए देकर कहा कि, वो किसी को ना बताये!

अब भाई साहेब ने उसका स्तन-पान शुरू किया तो, वो तो पागल हो गयी, उन्होंने उसे कसके पकड़ लिया, और नीचे अपनी एक ऊँगली कर दी! वो शायद कराह गयी होगी! भाई साहेब उसका काम करना चाहते थे, लेकिन बाद में रुक गये. और उस नौकरानी से अपना गुप्तांग चुसवाया!

ये बात सुनकर मुझे अच्छा नहीं लगा! भाई साहेब की इस, घटिया हरकत से, उनकी घटियापनती झलकती है! पता लगता है कि, हमारे उदय भाई उस नौकरानी के दीवाने थे!


Spicy Chapters...