मित्र की कज़िन के चर्चे
 
मित्र की कज़िन के चर्चे...
बात उन दोनों की है, जब मैंने 1989 में 1st टाइम, कॉलेज में, NCC को ज्वाइन किया! हमें एक डेट दी गयी, और उस डेट पर हमारा पहला कैंप किसी गाँव में जाना था! हम में से ज्यदातर कैडेट्स नए थे, जिनमे मैं भी एक था, और कुछ पुराने हमारे सीनियर्स भी थे।

अब, हम सारे कैडेट्स उस गाँव में पहुच गये, जहां हमारा कैंप लगना था, हमारे टेंट में करीब 10 कैडेट्स थे, मैं देखने में सबसे छोटा लगता था, लेकिन सबसे ज्यादा शैतानो में मेरा नाम था, क्यूंकि ज्यादातर सीनियर्स मेरे जानकार थे।

सबसे पहले दिन शाम को सारे कैडेट्स का परिचय हुआ! और फिर शाम को करीब 7 बजे सभी अपने-अपने टेंट में आ गए! सबने अपनी-अपनी जगह पसंद की, और अपना सामान रख कर, बिस्तर लगा कर सब आराम करने लगे! सभी कैडेट्स दिन के थके हुए थे! रात 8 बजे खाने का समय हुआ, और सभी खाने के लिये चले गये, खाना खाकर वापस अपने टेंटो में आ गये, और अपने-अपने बिस्तर पर सभी बैठे बातें करने लगे।

हम सभी कैडेट्स एक दुसरे के बारे में पूछ रहे थे कि, वो क्या करता है? कहाँ रहता है? उसके परिवार के बारे में इत्यदि! उन्ही में एक लड़का था, मेरे पूछने पर कि, वो कहाँ रहता है तो, उसका कहना कि, वो उस गली के पास, एक निस्चित स्थान पर रहता है! मैंने कहा कि वो, जगह तो मेरे घर से करीब 100 मीटर की दूरी पर है, और वहीं पर एक लड़की "बेला" भी रहती है, उसने कहा हाँ।

मैंने अब, उसके कहने से पहले ही, कहना शुरू कर दिया कि, बेला का तो मेरे भैय्या के एक मित्र से चक्कर था! और उसने कई बार बेला की ठुकाई भी की है! उसके बाद उसके (बेला के), कई लोगो से भी चक्कर चले!. उसकी जुबान बंद थी! तब मैंने उससे पुछा कि, क्या वो वहीं रहता है? उसने कहा हाँ, और धीरे से बोला कि, बेला उसकी कज़िन बहन है! लेकिन उन लोगो का उनसे, अब कोई रिश्ता नहीं है।

यह सुन कर मुझे थोड़ी सी शर्म आ गयी, सारे कैडेट्स हम दोनों की और देख रहे थे. मैंने उस बन्दे को इशारे से टेंट के बाहर बुलाया, और कहा "I Am Sorry", उसने मान लिया और कुछ नहीं बोला! उसके बाद से हम दोनों एक घनिष्ट मित्र बन गये, और आज भी हैं!



Spicy Chapters...