वो सुबह के २ घंटे
 
वो सुबह के २ घंटे ...
दोस्तों! यह एक वो कहानी है, जब मेरा एक औरत से, जो मुझसे करीब २-३ साल बड़ी थी. विधवा थी, और एक बच्चे की माँ भी थी, किसी दुसरे देश से 8 साल के बाद वापस भारत आयी थी, और मुझे एक डेटिंग वेबसाइट पर मिली।

हमदोनो ने फ़ोन नंबर एक दुसरे को दिये, और हमदोनो की बात शुरू हो गयी. उस औरत को मुझसे बात करना, और मेरा उसे बात-बात पर ज़ोक मार कर हसाना, अच्छा लगने लगा! मैंने उस औरत से कुछ नहीं चाहा था! और हम एक अच्छे दोस्त की तरह महिने, डेढ़ महीने तक बात करते रहे।

जाने कब उस औरत को मुझ से प्यार हुआ, मुझे नहीं मालूम, और बात-बात में उस का कहना कि, मैं तुम्हारे लिये कुछ भी कर सकती हूँ, अजीब लगता था! एक दिन उसके कहने पर मैंने पूछ ही लिया 'कुछ भी' में बहुत सारी चीजें आती हैं, और उसने कहा "हाँ", बल्कि उसने कहा किसी के साथ सोने से ज्यादा कुछ और नहीं हो सकता! मैं उसका इशारा समझ रहा था, और उसे जानने की कोशिश कर रहा था!

फिर एक दिन आया और हम दोनों एक निश्चित स्थान पर मिले, कॉफ़ी पी, और २-३ घंटे तक बात करते रहे! इसके बाद हम दोनों एक लॉन्ग ड्राइव पर निकल गए गये, अब शाम के 7 बज चुके थे! उसने मुझे मेरे घर के पास अपनी कार से छोड़ा और चली गयी! लेकिन हमारा फ़ोन पर बात करने का सिलसिला अभी भी जारी था!

एक दिन, जब मैं घर पर अकेला था, तब मैंने उसे सुबह करीब 11 बजे अपने घर पर बुला लिया! वो आयी, मैंने उसे पानी पिलाया, और गले लगकर हम दोनों एक दुसरे को चूमने लगे, मुझमे एक प्यास थी! और मैं चाहता था कि हमदोनो के बीच एक गणित बैठ जाए! जब उसे कोई ऐतराज नहीं हुआ, तो मैं उसे अपने कमरे में ले आया!

अब हमदोनो कमरे में ऐ-सी चलाकर, एक दुसरे को अपनी बाहों में लेकर एक दुसरे को चूमते हुए बिस्टर पर रोल कर रहे थे, और उस घडी का खूब मजा ले रहे थे! मैं शायद अब बहुत उत्तेजित हो चुका था, और आगे बढ़ना चाहता था, लेकिन वो मुझे रोक रही थी!

जब मेरी उत्तेजना इतनी बढ़ गयी, और काबू, नहीं हुआ तो, मैंने उस से कह दिया की अब रुका नहीं जा रहा, उसने वही एक आदर्श नारी की तरह कहा कि, जब-तक हम दोनों की शादी नहीं हो जायेगी तब-तक वो कुछ नहीं करगी, लेकिन वो मुझे दूसरी तरह से तक संतुस्ट कर सकती है! मैं उसकी बात पर राजी हो गया!

उसने मेरे कपडे उतारे, और मैं उसके कपड़ो के अन्दर हाथ डाल कर उसके गरम बदन को सहला रहा था. उसने मेरे पूरे बदन को किस करना शुरू किया! मुझे वो 10 मिनट्स तक चूसती रही! उसका अपने मुह में मुझे शहीद करना आज भी याद है। जो शायद पहली बार मेरे साथ हुआ था!

हम दोनों आज भी फ़ोन पर एक अच्छे दोस्त हैं, बातें शेयर करते हैं, और समय के साथ आगे बढ़ रहे हैन, क्यूंकि हम दोनों अब नहीं मिलते!


Spicy Chapters...